ए दोस्त तेरी दोस्ती पर नाज़ करते हैं

Dosti Shayari

ए दोस्त तेरी ~दोस्ती पर नाज़ करते हैं,
हर वक्त मिलने की ~फ़रियाद करते हैं,
हमें नहीं पता ~घर वाले बताते हैं,
हम ~नींद में भी आपसे बात करते हैं।