इन फूलों में अब तो महक ही नहीं है

Dard Shayari Image 2018

इन ~फूलों में अब तो ~महक ही नहीं है,
इन ~राहो की अब कोई ~मंज़िल ही नहीं है,
कर लेता मैं ~मोम अगर कोई ~पत्थर दिल होता,
पर यहाँ तो किसी में इंसानी ~दिल ही नहीं है।

In Phoolo Me Ab To Mehek Hi Nahi Hai,
In Raaho Ki Ab Koi Manzil Hi Nahi Hai,
Kar Leta Mai Mom Agar Koi Patthar Dil Hota To,
Par Yaha To Kisi Me Insani Dil Hi Nahi Hai.

हम तो समझे थे की ज़ख़्म है भर जायेगा

Dard Bhari Shayari in Hindi

हम तो समझे थे की ~ज़ख़्म है भर जायेगा,
क्या खबर थी की रोग ~दिल में उतर जायेगा,
ठीक ~लिखा था मेरे हाथ की ~लकीरो में,
तू अगर ~प्यार करेगा तो ~बिखर जायेगा.

Hum To Samjhe The Ki Zakham Hai Bhar Jayega,
Kya Khabar Thi Ki Rog Dil Me Utar Jayega,
Theek Likha Tha Mere Hath Ki Lakero Me,
Tu Agar Pyar Karega To Bikhar Jayega.

इन आँखों में नमी रहती है

Dard Bhari Shayari Image 2019

तेरे न होने से…
~ज़िन्दगी में बस इतनी सी ~कमी रहती है,
मैं चाहे लाख ~मुस्कुराऊं…
इन ~आँखों में नमी रहती है.

Tere Na Hone Se…
Zindagi Mein Bas Itni Si Kami Rehti Hai,
Main Chahe Laakh Muskurau…
In Aankho Mein Nami Rehti Hai.

जब गमो का दौर चल पड़ा वक्त की तरह

Dard Bhari Shayari Image 2018

जब ~गमो का दौर चल पड़ा ~वक्त की तरह,
~अँधेरा था रौशनी भी कम थी ~ज़िन्दगी की तरह,
तभी कुछ जला ~रौशनी हो गयी,
देखा तो हर ~ख़ुशी जल रही थी मेरे ~दिल की तरह.

Jab Gamo Ka Daur Chal Pad Vakt Ki Tarah,
Andhera Tha Raushani Bhi Kam Thi Jindagi Ki Tarah,
Tabhi Kuch Jala Raushani Ho Gayi,
Dekha To Har Khushi Jal Rahi Thi Mere Dil Ki Tarah.

वो मोहब्बत भी तेरी थी, वो नफ़रत भी तेरी थी

Bewafa Hindi Shayari

वो ~मोहब्बत भी तेरी थी, वो ~नफ़रत भी तेरी थी,
वो ~अपनाने और ~ठुकरानी की अदा भी तेरी थी,
में अपनी ~वफ़ा का ~इंसाफ़ किस से माँगता,
वो ~शहर भी तेरा था, वो ~अदालत भी तेरी थी!

Wo mohabbat bhi teri thi, Wo nafrat bhi teri thi,
Wo apnane aur thukrane ki ada bhi teri thi,
Mein apni wafa ka insaaf kis se Mangta..
Wo shahar bhi tera tha wo adalat bhi teri thi.